Russia opened fireplace on a British ship in the Black Sea, dropped bombs, Russia promises the location as its own | रूस ने काला सागर में आए ब्रिटिश जहाज पर फायरिंग की, बम गिराए, क्षेत्र को अपना बताता है रूस

  • Hindi Information
  • Global
  • Russia Opened Fireplace On A British Ship In The Black Sea, Dropped Bombs, Russia Statements The Location As Its Possess

मास्को10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यह घटना रूस और पश्चिमी देशों में बढ़ते तनाव के बीच इस तरह के सैन्य टकराव बढ़ने के खतराें का संकेत देने वाली है।

रूस के एक युद्धपोत ने अपने दावे वाले समुद्री क्षेत्र में घुसे ब्रिटिश युद्धपोत काे खदेड़ने के लिए बुधवार काे चेतावनी देते हुए फायरिंग की और उसकी राह में बम भी गिराए। यह घटना क्रीमिया के पास काला सागर में हुई। रूस इसे अपना समुद्री क्षेत्र बताता है। शीत युद्ध के बाद यह पहली घटना है जब रूस ने किसी नाटो युद्धपोत के खिलाफ हथियारों का प्रयोग किया है। यह घटना रूस और पश्चिमी देशों में बढ़ते तनाव के बीच इस तरह के सैन्य टकराव बढ़ने के खतराें का संकेत देने वाली है।

रूस के रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा गया है कि ब्रिटिश मिसाइल विध्वंसक डिफेंडर ने चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए रूसी जल क्षेत्र में प्रवेश किया जिसके बाद यह कार्रवाई की गई। मंत्रालय के मुताबिक इसके कुछ मिनट बाद ब्रिटिश विध्वंसक ने अपना रास्ता बदल दिया।

रूसी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक उन्होंने ब्रिटिश जंगी जहाज की इस हरकत का विरोध करने के लिए मास्को में यूके के मिलिट्री अटैची को तलब किया है। दूसरी ओर, इस पूरे मामले में यूके के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि युद्धपोत पर फायरिंग जैसी कोई घटना नहीं हुई।

मंत्रालय ने कहा है कि युद्धपोत अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन करते हुए यूक्रेन की सीमा में से गुजर रहा था, न कि रूसी जलक्षेत्र से। वैसे पूर्व में ब्रिटेन ने कहा था कि काला सागर में उसके जहाज अंतरराष्ट्रीय जलक्षेत्र या फिर यूक्रेन के जलक्षेत्र में तैनात हैं। दरअसल, रूस ने 2014 में क्रीमिया पर कब्जा कर लिया था। लेकिन रूस के इस कदम को दुनिया के अधिकांश देश मान्यता नहीं देते हैं।

खबरें और भी हैं…
READ  Multinational maritime physical exercise Cutlass Categorical 2021 begins

Lascia un commento

Il tuo indirizzo email non sarà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *